Follow by Email

Saturday, September 30, 2017


Saturday, September 2, 2017

परीक्षा की तैयारी

परीक्षा की तैयारी
बच्चों की अर्धवार्षिक परीक्षाएँ नजदीक रही हैं। इस समय बच्चे  एवं  अभिभावक दोनों तनाव में रहते हैं। बच्चे को तनाव नहीं ,सहारा दें। उसका मनोबल बढ़ाएँ।  
इस समय कुछ ध्यान देने वाली बातें इस प्रकार है -
   • समय सारिणी बनाकर हर विषय को उचित समय दें बीच- बीच में थोड़ा समय विश्राम के लिए   रखें।
   • परीक्षा  के लिए  दिए गए पाठ्यक्रम को ध्यान से देखें  और  उसके अनुरूप तैयारी कराएँ।
 • थोड़े समय में ज्यादा पढ़ लेने से बच्चा परीक्षा में सब कुछ याद नहीं ररख पाता। अतः समय- समय पर पढ़े हुए पाठ    
     का  एवं नियमित अभ्यास   कराएँ।
अच्छे उत्तर लिखने के  लिए बच्चे पाठ को बार- बार पढ़ें ताकि पाठ  पूरी तरह उन्हें समझ जाए।
कई बार देखा गया है कि परीक्षा देते समय बच्चे   पूरा पेपर नहीं कर पाते। कई प्रश्न छूट  जाते हैं , उन्हें प्रश्न पत्र बड़ा   
  लगता है। यह तभी होता है जब हम घर पर प्रश्नों के उत्तर लिख कर अभ्यास नहीं करते। लिखित अभ्यास कराएँ     
    इससे वर्तनी सम्बन्धी अशुद्धियाँ भी सामने जाती हैं और लिखने की गति भी बढ़ जाती है।   
बच्चे  को अगर कहीं  कुछ समझने में कठिनाई हो रही है तो उस वक्त तनाव में आयें।  थोड़ी देर के लिए उस विषय
   को छोड़ दें। बाद में फिर कुछ घंटों बाद उसे फिर उठाएँ या अगले दिन उस विषय को दोबारा  देखें। आप देखेंगे कि  
   अब   समझने में आसानी होगी।
•   संतुलित भोजन  आवश्यक है।  पेट अच्छी तरह भरा होने पर बच्चा मन लगाकर पढ़ता है।  जंक फ़ूड से बचें। 


 नियमित प्रयास, नियमित पठन , नियमित रूप से लेखन  अनिवार्य है। अंत में यही समझने की आवश्यकता है  कि  परीक्षा एक मापदंड है यह जानने के लिए कि बच्चे का कांसेप्ट कहाँ तक स्पष्ट है , किस  विषय पर पकड़ मज़बूत नहीं है , आगे आने वाले समय में हमारी तैयारी कैसी होनी चाहिए।